राजस्थान के खनिज संसाधन 3

*राजस्थान के खनिज संसाधन*

फ्लोराइट या फ्लोर्सपार

यह चीनी मिट्टी के बर्तनों, सफेद सीमेंट लोह और अम्ल उघोगों में काम आता है।

यह अभ्रक के साथ सहउत्पाद के रूप में निकलता है।

डूंगरपुर - माण्डों की पाल, काहिला

जालौर, सीकर, सिरोही, अजमेर

फ्लोर्सपार बेनिफिशियल संयत्र(1956) मांडों की पाल

पन्ना या हरी अग्नि या मरकत या एमरल्ड
उदयपुर - काला गुमान, तीखी, देवगढ़

राजसमंद - कांकरोली

अजमेर - गुडास, राजगढ़,बुबनी

हाल ही में ब्रिटेन की माइन्स मैनेजमेण्ट कंम्पनी ने बुबानी(अजमेर) से गमगुढ़ा(राजसमंद) व नाथद्वारा तक फाइनग्रेड पन्ने की विशाल पट्टी का पता लगाया।

चीनी मिट्टी

यह सिरेमिक और सिलिकेट उद्योग में प्रयुक्त होती है। उतरप्रदेश के बाद चीनी मिट्टी के उत्पादन में राजस्थान का दुसरा स्थान है।

बीकानेर - चांदी, पलाना, बोटड़ी

सवाईमाधोपुर - रायसिना, वसुव

सीकर - पुरूषोतमपुरा, वूचर, टोरड़ा

उदयपुर - खारा- बारिया

चीनी मिट्टी धुलाई का कारखाना नीम का थाना(सीकर) में है।

गारनेट या तामड़ा या रक्तमणि
गारनेट का उत्पादन केवल राजस्थान में ही होता है।

जेम और ऐबरेसिब यह दो प्रकार होता है।

टोंक - राजमहल, कल्याणपुरा

भीलवाड़ा - कमलपुरा, दादिया, बलिया-खेड़ा

अजमेर - सरवाड़, बरबारी

ग्रेनाइट

देश में राजस्थान ही एकमात्र ऐसा राज्य हैं जहां विभिन्न रंगों का ग्रेनाइट मिलता है।

सर्वाधिक ग्रेनाइट जालौर में मिलता है।

गुलाबी - बाबरमाल(जालौर)

मरकरी लाल - सीवाणा, गुंगेरिया(बाड़मेर)

काला - कालाडेरा(जयपुर), बादनबाड़ा व शमालिया(अजमेर)

पीला - पीथला गांव(जैसलमेर)

नवीनतम भण्डार - बाड़मेर, अजमेर, दौसा

संगमरगर(मार्बल)

राजस्थान में भारत का 95 प्रतिशत संगमरमर मिलता है।

राजस्थान में कैल्साइटिक व डोलामाइटिक दो किस्में मिलती है।

संगरमर के खनन में राजसमंद का प्र्रथम स्थान है।

राजसमंद - राजनगर, मोरवाड़, मोरचना, भागोरिया, सरदारगढ़ नाथद्वारा, केलवा

उदयपुर - ऋषभदेव, दरौली, जसपुरा, देवीमाता

नागौर - मकराना, कुमारी-डुंगरी, चैसीरा

सिरोही - सेलवाड़ा शिवगंज, भटाना

अलवर - खो-दरीबा, राजगढ़, बादामपुर

बांसवाड़ा - त्रिपुर-सुन्दरी, खेमातलाई, भीमकुण्ड

सफेद(केल्साइटिक) - राजसमंद, मकराना

हरा-काला - डुंगरपुर, कोटा

काला - भैंसलाना

लाल - धौलपुर

गुलाबी - भरतपुर

हरा(सरपेन्टाइन) - उदयपुर

हल्का हरा - डूंगरपुर

बादामी - जोधुपर

पीला - जैसलमेर

सफेद स्फाटिकीय - अलवर

लाल-पीला छीटदार - जैसलमेर

सात रंग - खान्दरा गांव(पाली)

धारीदार - जैसलमेर

संगमरमर मण्डी - किशनगढ़

संगमरमर मूर्तियां - जयपुर

संगमरमर जाली - जैसलमेर

चांदी

राजस्थान में भारत की 90 प्रतिशत चांदी निकाली जाती है।

अर्जेन्टाइट, जाइराजाइट, हाॅर्न सिल्वर चांदी के मुख्य अयस्क है।

चांदी सीसे व जस्ते के साथ निकलती है।

चांदी अयस्क का शोधन ढुंडु(बिहार) में होता है।

सोना

बांसवाड़ा - आन्नदपुर भुकिया, जगपुर, तिमारन माता, संजेला, मानपुर, डगोचा

उदयपुर - रायपुर, खेड़न, लई

चित्तौड़गढ़ - खेड़ा गांव

डूंगरपुर - चादर की पाल, आमजरा

दौसा - बासड़ी, नाभावाली

आंनदपुर भुकिया और जगपुरा में सोने का खनन हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है।

हाल ही में अजमेर, अलवर, दौसा, सवाईमाधोपुर में स्वर्ण के नये भण्डार मिले हैं।

यूरेनियम

यूरेनियम एक आण्विक खनिज है। पैगमेटाइट्स, मोनोजाइट और चैरेलाइट इसके मुख्य अयस्क है।

उदयपुर - ऊमरा(सर्वाधिक)

टोंक - देवली

सीकर - खण्डेला,रोहिल

बूंदी - हिण्डोली

भीलवाड़ा - जहाजपुर, भूणास

नये भण्डार - डूंगरपुर, किशनगढ़, बांसवाड़ा

No comments:

Post a Comment

Thank You For Your Great Contribution

Featured Post

how to post formdata or http.context.form data from angular 6 to asp.net mvc web api or api using Token based authentication with header

how to post formdata or http.context.form data from angular 6 to asp.net mvc web api or api using Token based authentication with header  ...

Popular Posts